राजस्थान का CRPF का जवान जम्मू-कश्मीर में शहीद, तिरंगे में लिपटे बेटे को देख हर आंख हुई नम

Header Banner

राजस्थान का CRPF का जवान जम्मू-कश्मीर में शहीद, तिरंगे में लिपटे बेटे को देख हर आंख हुई नम

  Thu Jan 12, 2017 16:48        Rajasthani

खेरवाड़ा.  केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल में जम्मू-कश्मीर में तैनात कस्बे के निकटवर्ती बंजारिया निवासी रमणलाल मीणा का ड्यूटी के दौरान निधन हो गया। शहीद सैनिक का गुरूवार को राजकीय सम्मान के साथ वादेश्वर शमशान घाट पर अंतिम संस्कार किया गया। अंतिम संस्कार के दौरान उपखण्ड़ क्षेत्र के अधिकारी एवं सीआरपीएफ  की बटालियन व जनप्रतिनिधि उपस्थित रहे।

जानकारी के अनुसार बंजारिया निवासी रमणलाल सीआरपीएफ  की तीसरी बटालियन में जम्मू-कश्मीर के बांदीकुड़ी में इंसपेक्टर के पद पर तैनात थे। 9 जनवरी को ड्यूटी के दौरान उन्हें हार्ट अटैक आने से मृत्यु हो गई। शहीद रमणलाल का पार्थिव शरीर जम्मू-कश्मीर से जयपुर लाया गया, जहां सीआरपीएफ  की टुकड़ी पूरे राजकीय सम्मान के साथ सीआरपीएफ  के वाहन में लेकर उनके गांव बंजारिया पहुंची।  

शहीद के घर पर हजारों की संख्या में ग्रामीण, जनप्रतिनिधि एवं अधिकारी उपस्थित थे। शहीद का शव वादेश्वर स्थित शमशान घाट ले जाया गया। सीआरपीएफ की बटालियन ने शहीद को गार्ड ऑफ  ऑनर दिया। 

उपखण्ड अधिकारी पूजा पार्थ, तहसीलदार मोकम सिंह, सीआरपीएफ जयपुर से आए इन्सपेक्टर राजेन्द्र मीणा, डिप्टी सौभाग्यसिंह, थानाधिकारी रतनसिंहए, पूर्व प्रधान सालीगराम खराड़ी, जिला परिषद् सदस्य मांगीलाल खराड़ी, बड़ला पूर्व सरपंच बंशीलाल मीणा, चेम्बर ऑफ  कॉमर्स के अध्यक्ष पारस जैन, भाजपा मंडल अध्यक्ष रमेश कोठारी, शंकर पंचाल आदि ने शहीद के पार्थिव शरीर पर श्रद्धा सुमन अर्पित किए। 

हर आंख हुई नम- अन्त्येष्टि के दौरान उपस्थित हर ग्रामीण की आंख शहीद को विदाई देते हुए नम हो गई। तिरंगे में लिपटे शहीद के शव को देखकर परिवारजन भी दु:खी तो थे फिर भी देश की सेवा में शहीद हुए अपने लाल को देखकर उनका सीना गर्व से चौड़ा भी हुआ। 

सीआरपीएफ में सेवा दे रही तीसरी पीढ़ी: शहीद रमणलाल एवं उसका परिवार देश सेवा में सदैव तत्पर रहा है। रमणलाल के पिता श्यामलाल सीआरपीएफ में कार्यरत थे। उनकी प्रेरणा से रमणलाल ने भी सीआरपीएफ में सेवा दी। परिवार के पद चिह्नों पर चलते हुए रमणलाल का बड़ा पुत्र दिलकेश भी सीआरपीएफ  में भर्ती हुआ। रमणलाल के चाचा, भतीजा आदि भी सेना एवं पुलिस में कार्यरत है। शहीद के परिवारजनों ने सरकार से शहीद को मिलने वाली सभी सुविधाएं दिलाने की मांग की।

 

 


   CRPF jawan killed,Jammu and Kashmir to Rajasthan, a son, wrapped