गाजर एक फायदे अनेक, सर्दियों में करें सेवन, बरकरार रहेगी तंदुरुस्ती

Header Banner

गाजर एक फायदे अनेक, सर्दियों में करें सेवन, बरकरार रहेगी तंदुरुस्ती

  Thu Dec 29, 2016 16:09        Health, Rajasthani

वैद्य पदम जैन
कृत्ति से प्रदत्त सामान्य समझी जाने वाली गाजर गुणों की खान है। शारीरिक एवं मानसिक रूप से अतिहितकारी औषध व खाद्य पदार्थ है। आलू के बाद इसे विश्व की सबसे ज्यादा पसंदीदा सब्जी माना जाता है।

यह पार्सले परिवार की सदस्य है, जिसमें हरा धनिया, सौंफ और जीरा भी आते हैं। गाजर में केरोटिन, विटामिन ए, शर्करा, पेक्टीन, एल्ब्युमीन, लौह-तत्व और अन्य पोषत तत्व मौजूद हैं।

गाजर में 86 प्रतिशत पानी के अलावा प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, केल्सीयम, फास्फोरस होता है। तासीर में यह हल्की गर्म होती है। यह भूख बढ़ाने वाली, थकान दूर करने वाली और नेत्रों के लिए हितकर है। खून की कमी को दूर करती है। नाक या थूक से रक्त आने की समस्या में भी यह बेहद फायदेमंद है।

जिन स्त्रियों में मासिक धर्म कम होता है, उन्हें 5 ग्राम गाजर के बीज, 5 ग्राम मूली के बीच को उबालकर, इसमें गुड़ मिलाकर पीना चाहिए। 

-- इसके बीज सूजन कम करते हैं, मस्तिष्क व नाड़ी के स्थान को ताकत देते हैं। गर्भाशय रक्त का शोधन भी करते हैं। 

पेट के कीड़ों को निकालने के लिए गाजर के 1 कप रस में चुटकीभर बायबिडंग पाउडर और कमीला मिलाकर सेवन करना चाहिए। 

पीलिया रोग में कुछ समय तक दिन में दो बार 1 कप गाजर के रस के साथ 1 चम्मच पुनर्नवा जड़ पाउडर लेने से फायदा होता है। साथ ही यकृत की सूजन, चर्बी बढऩा, पित्त रुकना आदि ठीक हो जाती है। 

-- गाजर व पपीते के सूप या रस का नियमित सेवन करने से विटामिन ए की कमी दूर होती है और नेत्र ज्योति बढ़ाने में मदद मिलती है। 

- सिगरेट, बीड़ी, तम्बाकू का सेवन करने वालों को फेफड़ों की खराबी होने से छुटकारा पाने के लिए काली या लाल गाजर खाना हितकर है। एक अनुसंधान के मुताबिक बीटा केरोटीन से सेवन से फेफड़ों को आराम मिलने लगता है। 

-- यह अग्नाशय को शक्ति प्रदान करती है। 

-- मधुमेह के सामान्य रोगी  इसका सेवन कर सकते हैं। 

-- गुर्दे की छोटी पथरी में गाजर के रस में यवक्षार व कलमी सोडा मिलाकर पीने से फायदा होता है। 

विभिन्न उपयोग: गाजर का उपयोग कई तरह से किया जाता है। कच्चे फल, सलाद या सब्जी के रूप में इसे खाया जा सकता है। इसकी खीर और हलवा भी सर्दियों में खाए जाते हैं। केक, अचार, सूप, मुरब्बा, चटनी, रायता आदि भी बनाया जाता है। फ्रांस की महिलाएं गाजर को सौन्दर्य प्रसाधन के लिए काम में लेती थीं। कहा जाता है कि प्राचीन काल में इसे केवल दवा के लिये उगाया जाता था, दैनिक आहार में इसका प्रयोग बहुत बाद में प्रारंभ हुआ।

 


   Benefits carrot i,winter, the intake will,sustained well-being